जिग जिग्लर के अनमोल विचार | Zig Ziglar Best Inspiring Quotes In Hindi

जिग जिग्लर के अनमोल विचार | Zig Ziglar Best Inspiring Quotes In Hindi

जो व्यक्ति पढ़ता नहीं है वह उस व्यक्ति से बेहतर नहीं है जो पढ़ नहीं सकता है l जो व्यक्ति जानता है परन्तु सफलता के सिद्धांतो और सूचना का उपयोग नहीं करता वह उस व्यक्ति से बेहतर नहीं है जो उन्हें नही जानता l

~जिग जिग्लर (Zig Ziglar)

इससे पहले कि आप किसी और को वास्तव में पसंद करें अथवा इससे पहले कि आप यह तय करें कि आप सफलता व ख़ुशी के योग्य हैं, आपको अपने आप को स्वीकार करना चाहिए l

~जिग जिग्लर (Zig Ziglar)

 

आप जीवन में जो चाहते हैं वह पा सकते हैं अगर आप दुसरे लोगों की जो कुछ वो चाहते हैं उसे प्राप्त कराने में पर्याप्त मदद करते हैं l

~जिग जिग्लर (Zig Ziglar)

 

अच्छी याददास्त या बुरी याददास्त जैसी कोई चीज नहीं होती, यह या तो प्रशिक्षित होती है या अप्रशिक्षित l

~जिग जिग्लर (Zig Ziglar)

 

क्योंकि कोई दूसरा व्यक्ति वह काम कर सकता है जिसे आप नही कर सकते, इस कारण स्वयं को हीन समझने के बजाये आप उस काम पर ध्यान केन्द्रित क्यों नहीं करते जिसे आप कर सकते हैं और दुसरे नहीं कर सकते l

~जिग जिग्लर (Zig Ziglar)

 

जब हम किसी समस्या को पहचान लेते हैं और उस समस्या का विस्वास और साहस से सामना करते हैं तो समस्या का समाधान नजदीक होता है l

~जिग जिग्लर (Zig Ziglar)

 

मैं किसी आदमी को अनुमति नहीं दूंगा की वह अपने प्रति मुझमें घृणा पैदा करा कर मेरी आत्मा को संकीर्ण और पतित कर दे l

~जिग जिग्लर (Zig Ziglar)

 

अगर कोई व्यक्ति जीवन में स्वयं जैसा नहीं हो सकता तो वह वास्तव में किसी और के जैसा बनने के चक्कर में चीजों को ख़राब कर देगा, आप किसी अन्य का घटिया रूप होंगे परन्तु आपमें आपका अपना सर्वोत्तम विद्यमान है l

~जिग जिग्लर (Zig Ziglar)

 

जीवन एक प्रतिध्वनि है l जो भी आप बाहर भेजते हैं – वापिस आता है l जो भी आप बोते हैं – वही काटते हैं l जो भी आप देते हैं – वही पाते हैं l जो आप हैं – वही आप दूसरों में देखते हैं l

~जिग जिग्लर (Zig Ziglar)

 

आप किसी को जैसा देखते हैं, वैसा ही उससे व्यवहार करते हैं और आप जिस तरह का उससे व्यवहार करते हैं, बहुधा उसी तरह का वह बन जाता है l

~जिग जिग्लर (Zig Ziglar)

 

आप जिस तरह से स्थितियों को व लोगों को देखते हैं वह बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि आप स्थितियों को तथा लोगों को बिलकुल वैसा ही लेते हैं जैसा आप उन्हें देखते हैं l

~जिग जिग्लर (Zig Ziglar)

 

आप दूसरों में वही देख सकते हैं जो आपके अन्दर है l दूसरों में अच्छाई देखो – अपने अंदर अच्छाई तलाशने का यही एक तरीका है l

~जिग जिग्लर (Zig Ziglar)

 

ऐसा अभिनय करो मानो आप किसी के प्यार में हैं और पहली चीज जो आपको पता चलेगी वह यह कि आपको प्यार हो जायेगा l

~जिग जिग्लर (Zig Ziglar)

 

आप उतनी ही दूर तक जाते हैं जितनी दूर तक आप देख सकते हैं और जब आप वहां पहुँच जाते हैं तो हमेशा और आगे देख पायेंगे l

~जिग जिग्लर (Zig Ziglar)

 

आपका पेशा या व्यवसाय आपको सफल या असफल नही बनाता, जो सफल या असफल बनाता है वह यह कि आप अपने आपको और अपने पेशे को किस तरह से देखते हैं l

~जिग जिग्लर (Zig Ziglar)

 

आपके विश्वास कर लेने के बाद सफलता आसान हो जाती है l

~जिग जिग्लर (Zig Ziglar)

 

आप जहाँ जाना चाहते हैं जा सकते हैं, जो करना चाहते हैं कर सकते हैं, जो पाना चाहते हैं पा सकते हैं, और जो बनना चाहते हैं बन सकते हैं बसर्ते आप अपने प्रति ईमानदार रहें l

~जिग जिग्लर (Zig Ziglar)

 

यदि आप अपने लक्ष्य तक पहुचना चाहते हैं तो वस्तुतः अपने लक्ष्य पर पहुचने से पहले आपको लक्ष्य पर पहुचने को अपने दिमाग में देखना चाहिए l

~जिग जिग्लर (Zig Ziglar)

 

जब आप जानते हैं कि आप कहाँ जा रहे हैं तो आप आधी मंजिल तय कर चुके हैं l

~जिग जिग्लर (Zig Ziglar)

 

आप ही एकमात्र वह व्यक्ति हैं जो अपनी क्षमता का भरपूर प्रयोग कर सकते हैं l

~जिग जिग्लर (Zig Ziglar)

 

दोस्तों आपको जिग जिग्लर के इन सभी विचारों से क्या नया सीखने मिला और उनका कौन सा विचार आपको सबसे अच्छा लगा नीचे COMMENT BOX में जरूर लिखें l

Leave a Reply

Close Menu
×
×

Cart